Free Land Yojana : सरकार का बड़ा ऐलान सबको मुफ्त मिलेगी 5 डिसिमल जमीन, यहाँ करना होगा आवेदन

Ranjay Kumar

Free Land Yojana
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मुक्त भूमि योजना: सरकार का एक बड़ा ऐलान – सभी को बिना किसी मूल्य के एक 5 डिसिमल जमीन प्रदान की जाएगी। इसके लिए यहाँ आवेदन करना होगा – जमीन योजना 2022, मुक्त भूमि योजना 2022।

बिहार के सभी निवासियों को 5 डिसिमल ज़मीन मुफ्त में प्रदान की जाएगी। इस अवसर के लिए आवेदन करने के लिए, आपको पहले एक आधिकारिक ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर लॉग इन करना होगा। वहाँ पंजीकरण करने के बाद, आपको अपना आवेदन फॉर्म भरना होगा और सही जानकारी प्रदान करनी होगी। आपको अपनी सभी आवश्यक कागजात की सही जानकारी प्रदान करनी होगी, क्योंकि इन जानकारियों का परीक्षण किया जाएगा।

आवेदन करने के बाद, आपकी पात्रता की जाँच की जाएगी और सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार चयन होगा। इसके बाद, आपको ज़मीन के मालिक बनने के लिए एक नोटिस प्रदान किया जाएगा।

इस प्रक्रिया के साथ, आपको यदि आपको कोई समस्या हो, तो स्थानीय प्रशासनिक कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं या ऑनलाइन शहर परिषद या आधिकारिक वेबसाइट से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बिहार में सभी भूमिहीन लोगों के लिए एक नया प्रक्रिया शुरू की जाएगी ताकि उनके जनसंख्या और भूमि स्वामित्व के बारे में सही जानकारी हासिल की जा सके। इस पहल में, हर जिले से उनके क्षेत्र के सभी भूमिहीनों की एक सूची तैयार की जाएगी। इस सूची में उनका व्यक्तिगत और भूमि संबंधित सही और पूर्ण जानकारी होगी।

इसके बाद, प्रत्येक भूमिहीन को उनके जिले स्तर पर कैंप में आना होगा, जहां उन्हें अधिक विस्तृत जानकारी प्रदान की जाएगी और उन्हें एक पाँच डिसमिल ज़मीन के पर्चे के लिए आवेदन करने के लिए एक साफ दिशा निर्देशित किया जाएगा।

इस प्रक्रिया के माध्यम से, भूमिहीनों की जनसंख्या और भूमि स्वामित्व के बारे में सही और पूर्ण जानकारी हासिल की जाएगी और उनके ज़मीन के मालिक बनने के लिए एक सही कदम उठाया जाएगा।

মुখ্য সচিবালয়ের কার্যালয় কক্ষে তাঁর বক্তব্যে উল্লেখ হয়েছে যে, যাদের কাছে বাসগীত পত্র থাকলেও তাদের জমি থেকে অত্যন্ত অযথা বিধ্বংস হয়েছে, তাদের জন্য পুনঃপ্রায় জমির মাধ্যমে অধিকার প্রত্যাহার করা হবে। এছাড়া, ভূদানের জমির সঠিক অবস্থান ও অধিকারের সঠিক তথ্য সংগ্রহের জন্য পদক্ষেপ নেওয়া হবে।

এই প্রক্রিয়ার মাধ্যমে, জমির অধিকার অবলম্বনে অযথা প্রত্যাহার হওয়া সাবধান হতে হবে। প্রথমেই, বাসগীত পত্র সম্প্রদান করলেও যদি কোনও কারণে জমি বিনিয়োগকর্তা প্রতিরোধী হয়ে থাকেন, তাদের জন্য পুনঃপ্রায় জমির অধিকার প্রত্যাহার প্রদান করা হবে। এছাড়া, ভূদানের জমির সঠিক অবস্থান ও অধিকারের সঠিক তথ্য নিশ্চিত করতে অধিকাধিক পরিস্থিতি বিশ্লেষণ করা হবে।

এই উদ্দীপক্ষে, সরকার যথাযথ পদক্ষেপ নেবে যাতে যাতে জনগণের ভূমির অধিকার সমর্থন ও সুরক্ষিত থাকে।

राज्य में ई-मानचित्र (ई-मापी) की सुविधा शीघ्र होने वाली है।

राजस्व और भूमि सुधार मंत्री ने कहा है कि विभागीय प्रणाली को और भी बेहतर बनाने की दिशा में विशेष मनोनीति की जा रही है। रसीद काटने जैसे कई कार्यक्रमों को ऑनलाइन में परिणामित किया गया है। दाखिल-खारिज सहित कई अन्य कार्यक्रमों में उपयोगकर्ताओं की शिकायतों को समाधान करने में भी स्पष्ट दिशा दी गई है। उन्होंने बताया कि जमीन का नक्शा ऑनलाइन और घर तक डाक के माध्यम से पहुंचाने की व्यवस्था में भी तेजी लाई जाएगी।

लैपटॉप से ​​होगी परीक्षा

उन्होंने कहा कि राजस्व कर्मियों को लैपटॉप या डेस्कटॉप प्रदान करने का विचार किया जा रहा है। सभी प्रधिकारी आइन प्रौद्योगिकी का सही तरीके से उपयोग कर सकते हैं और यह उनके कार्यों को सहायक बनाने के लिए एक अच्छा माध्यम हो सकता है। इसलिए, संभावना जताई गई है कि यह उचित हो सकता है और आने वाले समय में इस प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जा सकता है।

इसके बाद, सभी सहायक कर्मचारियों के लिए भूमि सर्वे के कार्यों को पूरा करने के लिए सभी चेयरपर्सनों को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया गया है। यह उनके कार्यप्रणाली और सेवा में समृद्धि और न्याय सुनिश्चित करने में मदद करने के लिए है।

इसके अलावा, बहुत जल्द ही राज्य में ई-मैपिंग सुविधा शुरू होने जा रही है। इसमें नागरिकों को ऑनलाइन मैपिंग के लिए आवेदन करने की सुविधा होगी। यहाँ जाकर आवेदन देने की आवश्यकता नहीं होगी।

भूमि सर्वेक्षण कार्य की प्रगति होगी।

उन्होंने कहा कि वह 2022 मार्च तक राज्य में भूमि सर्वेक्षण परियोजना को पूरा करेंगे। इसके लिए उन्होंने 2745 राजस्व कर्मियों को शीघ्र पुनर्नियुक्त करने का निर्देश दिया है। इसमें 103 सहायक बंदोबस्त अधिकारी, 257 कानूनगो, 2018 विशेष सर्वेक्षण अमीन, 145 लिपिक और 222 संविदा अमीन के पद शामिल हैं। कुछ दिन पहले, 4325 राजस्व कर्मियों की बहाली हो गई है और इससे भूमि सर्वेक्षण कार्य में बहुत गति आएगी।

इस भूमि सर्वेक्षण परियोजना के माध्यम से, जमीन के विभिन्न पहलुओं को सुनिश्चित करने के लिए जल्दी से उच्चतम स्तर का प्रशासन तैयार किया जा रहा है। इसके द्वारा, सटीक और वैध जमीन सूचना, मालिकाना, वर्गमूल, ऊचाई, और अन्य जमीन की विशेषताएँ तुरंत संग्रहित की जा रही हैं। इस परियोजना के माध्यम से, राज्य और जनता के बीच सूचना साझा करने और साथ में काम करने के लिए एक सकारात्मक परिरूप तैयार किया जा रहा है।

इस परियोजना के माध्यम से, जमीनी विवादों की संख्या को कम करने में सहायक होने के लिए, जमीन सूचना का डिजिटलीकरण किया जा रहा है। यह राज्य बढ़िया बनाने के लिए आवश्यक है और लोगों को अपनी जमीन के मामले में सही और सुरक्षित जानकारी प्रदान करने में सहायक होगा।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों

फ्री लैंड योजना क्या है?

फ्री लैंड योजना एक सरकारी योजना है जिसके तहत सभी को 5 डिसिमल जमीन मुफ्त में प्रदान की जाएगी।

यह योजना किस राज्य में लागू है?

फ्री लैंड योजना बिहार राज्य में लागू है।

आवेदन करने के लिए क्या आवश्यकताएं हैं?

आवेदन के लिए आवश्यकता होने वाली दस्तावेजों की सूची स्थानीय सरकार द्वारा प्रदान की जाती है और इसे आधिकृत वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

यहाँ आवेदन कैसे करें?

आवेदन की प्रक्रिया आधिकृत पोर्टल पर ऑनलाइन किया जा सकता है, जिसमें सम्बंधित विवरण और आवश्यक दस्तावेज शामिल होने चाहिए।

योजना की अवधि क्या है?

योजना की अवधि और संबंधित निर्देशों की जानकारी आवेदन प्रक्रिया के साथ होती है और इसे सरकारी अधिकारियों से प्राप्त किया जा सकता है।

क्या यह योजना किसी आय सीमा के आधार पर है?

फ्री लैंड योजना में कोई आय सीमा नहीं है। सभी नागरिक योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

जमीन का प्रकार क्या होना चाहिए इस योजना के लिए?

योजना विशेष जमीन क्षेत्रों के लिए है, और इसमें निर्दिष्ट जमीन के लिए पात्रता मानक होता है।

क्या योजना का कोई आवंटन प्रक्रिया है?

हाँ, योजना का कोई आवंटन प्रक्रिया होती है और इसमें योजना के लाभार्थियों का चयन सरकारी प्रमाणपत्र और अन्य मानदंडों के आधार पर होता है।

निष्कर्ष

“फ्री लैंड योजना” का ऐलान एक अत्यंत महत्वपूर्ण पहलू है जो बिहार सरकार द्वारा किया गया है। इस योजना के अंतर्गत, सभी नागरिकों को मुफ्त में 5 डिसिमल जमीन प्रदान की जा रही है, जिससे समाज में भूमि-संप्रक्रिया बढ़ाने और लोगों को आर्थिक समृद्धि में मदद करने का प्रयास किया जा रहा है।

इस योजना के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया को सरल बनाए रखा गया है, जिससे नागरिकों को आसानी से लाभ प्राप्त करने का मौका मिलेगा। यह स्थानीय लोगों को उनकी स्वार्थ के लिए सकारात्मक परिणाम प्रदान करने का एक अच्छा उदाहरण है और उन्हें अपने स्वप्नों को पूरा करने के लिए समर्थन प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है।

इस योजना के माध्यम से भूमि के अभिवादन में सुधार करने के साथ-साथ, लोगों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का भी प्रयास किया जा रहा है। यह स्थानीय जनता को अधिक आधारित बनाने और विकास की दिशा में सकारात्मक कदमों की ओर एक महत्वपूर्ण कदम है।

समाप्त में, “फ्री लैंड योजना” ने एक नई दिशा में समाज को बदलने का एक बड़ा दृष्टिकोण प्रदान किया है, जो भूमि सम्प्रक्रिया में सुधार और आर्थिक समृद्धि में मदद कर सकता है। यह एक प्रेरणास्त्रोत है जो लोगों को स्वयंनिर्भर बनाने के लिए एक मार्गदर्शक कदम है।

Leave a Comment